Facility

Facility


खेल – कूद :

महाविद्यालय में छात्राओं के शरीर सौष्ठव के एवं खेलकूद में उनकी निपुणता तथा विकास हेतु क्रीड़ा-सम्बन्धी समस्य अंतरित एवं बाह्य क्रीड़ा सुविधाएँ उपलब्ध हैं | महाविद्यालय के पास अपना क्रीड़ागन | खेलकूद सम्बन्धी सुविधा प्रदान करने के लिए महाविद्यालय द्वारा क्रीड़ा अधिक्षक नियुक्त हैं | जिनकी देख-रेख में इनडोर तथा आउटडोर खेलों एवं विविध प्रकार की व्यायाम सुविधाओं की प्राप्ति सम्भव हैं | क्रीड़ा-सम्बन्धी उपकरण/सामग्री किसी भी खिलाडी छात्रा को घर के लिए सुलभ न हो सकेगी | खिलाडियों का चयन क्रीड़ा-अधीक्षक की देख रेख में किया जाता हैं |

राष्ट्रीय सेवा योजना :

भारत सरकार के मानव संसाधन विकास मंत्रालय के युवा कार्य विभाग के सौजन्य से महाविद्यालय में इस योजना की एक इकाई से संचालित है | जिसका प्रमुख उद्देश्य शिक्षा के साथ राष्ट्र-सेवा हैं | समय-समय पर राष्ट्रीय सेवा योजना की ओर से शिविर लगाकर वृक्षारोपण, मलिन बस्तियों की सफाई एवं मार्ग निमार्ण जैसे सार्वजनिक हित के कार्य किये जाते हैं | इस योजना में सहभागिता के इच्छुक छात्राओं को महाविद्यालय में प्रवेश पाने के बाद निर्धारित आवेदन-पत्र भर कर राष्ट्रीय सेवा योजना कार्यालय में जमा करना होगा | इकाई में प्रतिवर्ष छात्राओं का चयन साक्षात्कार के आधार पर एक समिति के द्वारा किया जाता हैं जिसमें केवल स्नातक स्तर की छात्रा ही सदस्य ( स्वयंसेवक ) चुने जाते हैं | प्रथम एवं द्वतीय वर्ष में 120-120 घंटे सार्वजनिक सेवा कार्य करने वाली छात्राओं का दो वर्षो की अवच्छिन्न सदस्यता अवधि पूरा करने पर प्रमाण-पत्र दिए जाते हैं |

रोवर्स एवं रेंजर्स :


महाविद्यालय में छात्राओं के शिक्षणत्तर क्रिया-कलापों के संवार्द्धानार्थ रोजर्स एवं रेंजर्स की इकाई कार्यरत हैं | महाविद्यालय में रोवर्स/रेंजर्स का सर्टिफिकेट कोर्स का संचालन किया जाता हैं|






-->